Hindi Ghazal Sher O Shayar – गर तेरी गली में



गर तेरी गली में आना जाना बना लिया होता
तो अब तक तुझको दीवाना बना लिया होता
हमको तो इस महफ़िल में आना था
वरना कोई भी बहाना बना लिया होता
अच्छा हुआ हम ज़मीन पर ही रहे
वरना अब तक निशाना बना लिया होता
इस तरह दर-ब-दर नहीं भटक रहे होते
गर कहीं कोई ठिकाना बना लिया होता
हम तो बस तेरे इंतज़ार में रह गए
वरना कोई दूसरा आशियाना बना लिया होता

Hindi Ghazal Lyrics – बिखरती रेत पर किस

बिखरती रेत पर किस नक़्शे को आबाद रखेगी?
वो मुझको याद रखे भी तो कितना याद रखेगी?
उसे बुनियाद रखनी है अभी दिल में मुहब्बत की
मगर ये नींव वो मेरे बाद रखेगी!
पलट कर भी नहीं देखी उसी की ये बेरुखी हमने!
भुला देंगे उसे ऐसा कि वो भी हमें याद रखेगी !!

Ghazal Shayari Hindi Mein – अपनी आदत है

अपनी आदत है हम गम में भी जी लेते हैं
अश्कों के जाम हम हंस-हंस के भी पी लेते हैं।
उनको क्या बात करें जो बहारों
को खिंज़ा मेम, बदल देते हैं
एक हम हैं कि उनके जख्मों को
सीने में लिए फ़िरते हैं
अपनी आदत है रातों में उठकर
हम ज़िन्दगी की राह देखा करते हैं ।
फूलों की सेज पर, वहीं वह किसी के
गले का हार बना करते हैं।
अपनी यह आदत है हम फिर भी
उनके ख्यालों मैं जिया करते हैं।
अश्कों के जाम हम हँस-हँ के
पिया करते हैं।


....कुछ उम्दा शेरो शायरी…इन्हे भी पढ़े…


Hindi Ghazal Sher O Shayar – किसी रंजिश को हवा

किसी रंजिश को हवा दो कि मैं ज़िंदा हूँ अभी
मुझको अहसास दिला दो कि मैं ज़िंदा हूँ अभी।

मेरे रुकने से मेरी साँसें भी रुक जाएँगी
फ़ासले और बढ़ा दो कि मैं ज़िंदा हूँ अभी।

ज़हर पीने की तो आदत थी ज़मानेवालों
अब कोई और दवा दो कि मैं ज़िंदा हूँ अभी।

चलती राहों में यूँ ही आँख लगी है ‘फ़ाकिर’
भीड़ लोगों की हटा दो कि मैं ज़िंदा हूँ अभी।

Ghazal Shayari Hindi Mein – ऐ चाँद तेरे चाँदनी की

ऐ चाँद तेरे चाँदनी की कसम मेरे पास भी एक चाँद है
तुझ में तो फिर भी दाग है, मेरा चाँद तो बेदाग हैं
तेरी दूरियोंकी कसम मेरा चाँद मेरे पास है
किरणों से भारी, सुबह हो, तारों से भारी शाम
मौजों में तेरा चेहरा, फूलों में तेरा नाम
मेरे महबूब सनम तू मेरा एहसास है
तारीफ़ करो ना इतनी तुम साँसे हैं रुकी जाती
आती हैं शर्म सी मुझ को, आँखे हैं झुक जाती
मेरी धड़कनों में सनम हर घड़ी तेरी प्यास है

Hindi Ghazal Lyrics – जो निकट इतनी

जो निकट इतनी, वही है, हाय कितनी दूर……..
जब नयन मैं मूँदती वह छवि, दिखा मुझको लुभाती
जब बढ़ता हाथ, तब कभी, कुछ नहीं है भय आता है।
धूल में मिलते, अचानक स्वप्न होकर चूर॥
जो निकट इतनी, वही है, हाय कितनी दूर…
पालने में श्वास के हर घड़ी झूला झुलाई
क्यों नहीं वह मेरा प्रेम पहचान पाई
मैं उसी को देखने को मज़बूर॥
जो निकट इतनी, वही है, हाय कितनी दूर…..

Shayari Ghazal In Hindi – हुआ जो कुछ उसे

हुआ जो कुछ उसे भुलाना चाहिए था
के उसे अब लौट आना चाहिए था

यह सारा बोझ मेरे सर पे क्यों है
उसे भी थोड़ा गम उठाना चाहिए था

इतनी खामोशी से ताल्लुक तोड़ दिया
उसे पहले बताना चाहिए था

उसकी यादों की खुश्बू है आज भी मेरे दिल मैं
मुझे जिसको भुलाना चाहिए था

ज़रा सी ग़लती पे रूठ बैठे
क्या उससे बस बहाना चाहिए था ??

मुझे पा कर उससे क्या चैन मिलता
जिसे सारा ज़माना चाहिए था


....कुछ उम्दा शेरो शायरी…इन्हे भी पढ़े…


Ghazal Shayari Hindi Mein – इश्क है तो इश्क का

इश्क है तो इश्क का इजहार होना चाहिये
आपको चेहरे से भी बीमार होना चाहिये

आप दरिया हैं तो फिर इस वक्त हम खतरे में हैं
आप कश्ती हैं तो हमको पार होना चाहिये

ऐरे गैरे लोग भी पढ़ने लगे हैं इन दिनों
आपको औरत नहीं अखबार होना चाहिये

जिंदगी कब तलक दर दर फिरायेगी हमें
टूटा फूटा ही सही घर बार होना चाहिये

अपनी यादों से कहो इक दिन की छुट्टी दें मुझे
इश्क के हिस्से में भी इतवार होना चाहिये

Ghazal Shayari Hindi Mein – कभी गम से दिल लगाया

कभी गम से दिल लगाया
कभी अश्क के सहारे
कभी रात गुज़ारी रोके
कभी दिन में चाँद तारे, कभी सितारे
कभी गम…..
गम आशकी के सदमे
हमें और न देना हमदम
मेरे दिन गुज़र रहे हैं
तेरी याद के सहारे
कभी गम……
गुलशन परस्त में हूँ
पहले चमन से कह दो
खून जिगर से हमने
फूलों के रुख निखारे
कभी गम…..
तुझे वास्ता खुदा का
जरा देख लो इधर भी
घबरा के मर न जाए
शर्म जिगर गम के मारे
कभी गम…..

Hindi Ghazal Lyrics – मरने की दुआएं

मरने की दुआएं क्यों मांगू
मरने की तमन्ना कौन करे
यह दुनिया हो या वह दुनिया,
अब ख्वाहिशें दुनिया कौन करे
जो आग लगायी थी तुमने
उसको तो बुझाया अश्को ने
जो अश्कों ने भड़काई है
उस आग को ठंडा कौन करे
जब कश्ती साबित -ओ सालिम थी,
साहिल की तमन्ना किसको थी,
अब ऐसी शकिस्ता कश्ती पर
साहिल की तमन्ना कौन करे
जब दुनिया ने हमें छोड़ा ऐ दिल
हम छोड़ न दें क्यों दुनिया को
दुनिया को समझकर बैठे हैं
अब दुनिया, दुनिया कौन करे ।


....कुछ उम्दा शेरो शायरी…इन्हे भी पढ़े…


1 2 3