शायरी ४ लाइन में – आज दिन ईद



आज दिन ईद, क्या करे कोई,
लग गई नींद क्या करे कोई
जिसकी सूरत नज़र नहीं आती
उनसे उम्मीद क्या करे कोई।

Hindi Poetry In 4 Lines – मोहब्बत भी अजीब चीज

मोहब्बत भी अजीब चीज बनायीं खुदा तूने!
तेरे ही मंदिर में; तेरी ही मस्जिद में;
तेरे ही बंदे; तेरे ही सामने रोते हैं!
तुझे नहीं, किसी और को पाने के लिए!…….


....कुछ उम्दा शेरो शायरी…इन्हे भी पढ़े…


बेस्ट ४ लाइन शायरी – कोई भी गीत हो

कोई भी गीत हो मुझसे बिना गाया न रहा
मिले किसे भी वह मुझको बिना पाया न रहा
मेरे सगे मेरे अपने हुए हो तुम ज्ब से
मुझको दुनिया में कहीं कोई पराया न रहा ।

हिंदी शायरी ४ लाइन – जलवे नहीं होते तो

जलवे नहीं होते तो नज़ारे नहीं होते
जब चांद के पहलू में सितारे नहीं होते।
हम इसलिए करते हैं तेरे गम की परवरिश
कांटों के खरीदार तो सारे नहीं होते।


....कुछ उम्दा शेरो शायरी…इन्हे भी पढ़े…


हिंदी शायरी ४ लाइन – जितना भुलाया तुझको

जितना भुलाया तुझको उतनी ही याद आयी
जितना जलाया खुद को, उतनी ही आग पायी
यह क्या, भुलावा देकर दुनिया की रीत कह दी,
दिल तो हुआ है अपना, और प्रीत है परायी।


....कुछ उम्दा शेरो शायरी…इन्हे भी पढ़े…


1 2 3 14