Sher O Shayari 2 Lines – जीने को तो जी रहे हैं

जीने को तो जी रहे हैं उन के बगैर भी लेकिन
सजा-ए-मौत के मायूस कैदियों की तरह…