Shayari Hindi Mein – तेरी हर बात ख़ामोशी से

तेरी हर बात ख़ामोशी से मान लेना ……..
ये भी अन्दाज़ है मेरी नाराज़गी का ………