Shayari Hindi Mein – गुनाहे इश्क मे

गुनाहे इश्क मे भी इक दौर वो बहुत खास रहा…

जब मेरा ना होकर भी…वो मेरे बहुत पास रहा…