Shayari 2 Line Mein – हसरतों पर रिवाजों

हसरतों पर रिवाजों का पहरा है
न जाने कौन-सी उम्मीद पर दिल ठहरा है।