Shayari 2 Line Mein – समझ नहीं आता

समझ नहीं आता,
उदासी के बाज़ार में…..
कहाँ-कहाँ खर्च करूँ ख़ुशी…..