Shayari 2 Line Mein – क्यू बार बार ताकते हो



क्यू बार बार ताकते हो शीशे को,
नज़र लगाओगे क्या मेरी इकलौती मुहब्बत को…!!!


....कुछ उम्दा शेरो शायरी…इन्हे भी पढ़े…