Shayari 2 Line Mein – क्यूँ न हो मेरी नज़रों को शिकायत

क्यूँ न हो मेरी नज़रों को शिकायत रात से.
सपना पूरा होता नहीं और सवेरा हो जाता है….