Shayari 2 Line Mein – अभी से पाँव के छाले

अभी से पाँव के छाले न देखो
अभी यारो सफ़र की इब्तिदा है