New Hindi Shayari 2017 – तेरे लिए कभी

तेरे लिए कभी इस दिल ने
बूरा नहीं चाहा..

ये और बात हैं के, मुझे
ये साबित, करना नहीं आया..!!