New Hindi Shayari 2017 – ज़माने भर की ईदों से

ज़माने भर की ईदों से हमें
क्या वास्ता ग़ालिब,,…

हमारा चाँद दिख जाये, हमारी ईद
हो जाये…