Latest Hindi Shayari 2017 – आज वो काबिल हुए

आज वो काबिल हुए, जो कभी काबिल ना थे,
और मंज़िलें उनको मिली, जो दौड़ में शामिल ना थे