Hindi Suvichar – उम्मीदों का दामन

उम्मीदों का दामन थाम रहे हो तो होंसला क़ायम रखना,
क्योंकि,
जब नाकामियां चरम पर हों तो क़ामयाबी बेहद क़रीब होती है।