Hindi Sher O Shayari – दूरी ऐसी

दूरी ऐसी.. कि मिटती ही नहीं.
मैं तेरे पास भी आऊँ….. तो कहाँ तक आऊँ