Hindi Sher O Shayari – दिन कटा जिस तरह

दिन कटा जिस तरह कटा लेकिन,
रात कटती नज़र नहीं आती