Hindi Sher O Shayari – इश्क पेश ही हुआ था

इश्क पेश ही हुआ था अभी इनसाफ के कठघरे मे…
सभी बोल पडे यही कातिल है, यही कातिल है…