Hindi Shayari Two Lines – हर नई नस्ल को

हर नई नस्ल को इक ताज़ा मदीने की तलाश
साहिबो अब कोई हिजरत नहीं होगी हम से