Hindi Shayari Two Lines – वो रोज मुझको

वो रोज मुझको देती है जीने के मशवरे
और वो खुद अपनी मुठ्ठी में मेरी जान लिये बैठी है