Hindi Shayari Two Lines – नफरतों को जलाओ तो

नफरतों को जलाओ तो मोहोब्बत की रौशनी होगी,
वर्ना इन्सान जब भी जले है ख़ाक ही हुए है