Hindi Shayari Two Lines – खल्वत में जो आँख

खल्वत में जो आँख मिलाते डरता हो
मेले में वो शक्स हमे पहचाने क्यों ।।