Hindi Shayari In 2 Lines – तमाम ख़ाना

तमाम ख़ाना-ब-दोशों में मुश्तरक है ये बात
सब अपने अपने घरों को पलट के देखते हैं