Hindi Shayari In 2 Lines – इक रात चाँदनी

इक रात चाँदनी मिरे बिस्तर पे आई थी
मैं ने तराश कर तिरा चेहरा बना दिया