Hindi Shayari By Ahmad Faraz – वैसे तो ठीक रहूँगा

वैसे तो ठीक रहूँगा मैं उस से बिछड के “फराज़”
बस दिल की सोचता हूँ, धडकना छोड न दे