Hindi Shayari 2 Lines – मंज़िलों से गुमराह भी

मंज़िलों से गुमराह भी,कर देते हैं कुछ लोग ।।
हर किसी से,रास्ता पूछना,अच्छा नहीं होता ।