Hindi Poetry In 2 Lines – जिसका इलाज हो सके



जिसका इलाज हो सके वह मर्ज, मर्ज ही नहीं
जिसमें सकूँ नसीब हो वह कोई ज़िन्दगी नहीं।


....कुछ उम्दा शेरो शायरी…इन्हे भी पढ़े…