Good Sher O Shayari – कुदरत के करिश्मों में



“कुदरत के करिश्मों में अगर रात ना होती; ख्वाबों में भी उनसे मुलाक़ात ना होती; सो जाते हैं हम इसी आस में; कि आज नहीं तो कल कभी तो उनसे बात होगी।
शुभ रात्रि!”


....कुछ उम्दा शेरो शायरी…इन्हे भी पढ़े…