Best Hindi Shayari 2017 – क्यूँ ना गुरुर करता मैं

क्यूँ ना गुरुर करता मैं अपने आप पे,

मुझे उसने चाहा… जिसके चाहने वाले हज़ारों थे…..