Best Hindi Shayari 2017 – इतने कहाँ मशरूफ़

इतने कहाँ मशरूफ़ हो गए हो तुम;
आजकल दिल तोड़ने भी नहीं आते!