Best 2 Lines Shayari – मौजों की सियासत

मौजों की सियासत से मायूस न हो ‘फ़ानी’
गिर्दाब की हर तह में साहिल नज़र आता है