Ahmad Faraz Sher O Shayari – कुछ ऐसे हादसे भी

कुछ ऐसे हादसे भी जिंदगी में होते हैं “फ़राज़”
के इंसान तो बच जाता है मगर जिंदा नहीं रहता