Ahmad Faraz Shayari – इस अजनबी शहर

इस अजनबी शहर में ये पत्थर कहां से आया “फराज़”
लोगों की इस भीड में कोई अपना ज़रूर है