Ahmad Faraz Famous Shayari – ज़िन्दगी पर इससे बढ़कर

ज़िन्दगी पर इससे बढ़कर तंज़ क्या होगा ‘फ़राज़’,
उसका ये कहना कि तू शायर है, दीवाना नहीं।