Ahmad Faraz Famous Shayari – जब खिज़ां आए तो

जब खिज़ां आए तो लौट आएगा वो भी फ़राज़
वो बहारों में ज़रा कम ही मिला करता है फ़राज