Aaj Ka Suvichar – काबू में नहीं कश्ती

काबू में नहीं कश्ती न सही हाथो में मेरे पतवार तो है,
मंजिल न सही नज़रो में अभी, कदमो में मेरे रफ़्तार तो है.