2 Lines Hindi Shayari – एक एक कर के

एक-एक कर के क़त्ल हो रही थीं फिर भी हम,
अपनी ख़्वाहिशों की इक क़तार देखते रहे