हिंदी शेरो शायरी – मैं कुछ लम्हा और तेरे साथ चाहता था



मैं कुछ लम्हा और तेरे साथ चाहता था;
आँखों में जो जम गयी वो बरसात चाहता था;
सुना हैं मुझे बहुत चाहती है वो मगर;
मैं उसकी जुबां से एक बार इज़हार चाहता था।


....कुछ उम्दा शेरो शायरी…इन्हे भी पढ़े…


Leave a Reply