शायरी २ लाइन में – हाथ में खंजर ही नहीं

हाथ में खंजर ही नहीं आंखोमे पानी भी चाहिए,
ऐ खुदा मुझे दुश्मन भी खानदानी चाहिए .