बेस्ट ४ लाइन शायरी – कोई भी गीत हो



कोई भी गीत हो मुझसे बिना गाया न रहा
मिले किसे भी वह मुझको बिना पाया न रहा
मेरे सगे मेरे अपने हुए हो तुम ज्ब से
मुझको दुनिया में कहीं कोई पराया न रहा ।


....कुछ उम्दा शेरो शायरी…इन्हे भी पढ़े…