दो लाइन में हिंदी शायरी – मुजरा देखने गए

मुजरा देखने गए मेरे दोस्त साथ हमे भी ले गए वो,
सब उसका हुस्न देखते रहे और मैं उसकी मजबूरी..