चाँद को बिठाकर पहरे पर



“चाँद को बिठाकर पहरे पर; तारों को दिया निगरानी का काम; आई है यह रात सुहानी लेकर आपके लिए; एक सुनहरा सपना आपकी आँखों के नाम।
शुभ रात्रि! “


....कुछ उम्दा शेरो शायरी…इन्हे भी पढ़े…