RJ SMS - Shayari, Jokes

Hindi Shayari, Funny Jokes







Category: Ahmad Faraz – 2 Lines Shayari

ahmad faraz 2 lines shayari in hindi font, ahmad faraz hindi 2 lines shayari, ahmad faraz hindi poetry, ahmad faraz ki shayari, ahmad faraz poetry lyrics, ahmad faraz sayri, ahmad faraz shair, ahmad faraz shayri, ahmed faraz sher o shayari, ahmed faraz urdu 2 lines shayari, ahmed faraz urdu shayari, best collection of 2 lines shayari, best hindi 2 lines shayari, famous hindi 2 lines shayari, shayari hindi mein, 2 lines shayari collection, 2 lines shayari in hindi font, two line hindi shayari, 2 lines sher o shayari, shayari ka khazana, 2 lines sher o shayari by ahmad faraz, 2 lines sher o shayari hindi font, hindi 2 lines shayari, hindi ki gazalein, romantic 2 lines shayari, sad 2 lines shayari, urdu 2 lines shayari, अहमद फ़राज़ की २ लाइन शायरी, अहमद फ़राज़ शेर ओ शायरी, अमहद फ़राज़ की शायरी, अहमद फ़राज़ की हिंदी शायरी, २ लाइन शायरी अहमद फ़राज़, अमहद फ़राज़ द्वारा २ पंक्ति में शायरी, अहमद फ़राज़ के फेमस शेर, फेमस शायरी अहमद फ़राज़, अमहद फ़राज़ २ पंक्ति शायरी, दो लाइन शेर ओ शायरी, अहमद फ़राज़ प्रसिद शायरी, फ़राज़ २ लाइन शायरी, फ़राज़ शेर ओ शायरी, फ़राज़ की शायरी, फ़राज़ की हिंदी शायरी, फ़राज़ शेर ओ शायरी

Ahmad Faraz Famous Shayari – बहुत अजीब है ये बंदिशें

बहुत अजीब है ये बंदिशें मुहब्बत की ‘फ़राज़’
न उसने क़ैद में रखा न हम फरार हुए

Ahmad Faraz Famous Shayari – ज़िन्दगी पर इससे बढ़कर

ज़िन्दगी पर इससे बढ़कर तंज़ क्या होगा ‘फ़राज़’,
उसका ये कहना कि तू शायर है, दीवाना नहीं।

Ahmad Faraz Famous Shayari – वो ज़िन्दगी हो कि

वो ज़िन्दगी हो कि दुनिया ‘फ़राज़’ क्या कीजे
कि जिससे इश्क़ करो बेवफ़ा निकलती है

Ahmad Faraz Famous Shayari – जी में जो आती है

जी में जो आती है कर गुज़रो कहीं ऐसा न हो
कल पशेमाँ हों कि क्यों दिल का कहा माना नहीं

Ahmad Faraz Famous Shayari – तुम तक़ल्लुफ़ को भी

तुम तक़ल्लुफ़ को भी इख़लास समझते हो ‘फ़राज़’
दोस्त होता नहीं हर हाथ मिलाने वाला

Ahmad Faraz Famous Shayari – जब भी दिल खोल के

जब भी दिल खोल के रोए होंगे, लोग आराम से सोए होंगे
वो सफ़ीने जिन्हें तूफ़ाँ न मिले, नाख़ुदाओं ने डुबोए होंगे

Hindi Shayari By Ahmad Faraz – उंगलियाँ आज तक

उंगलियाँ आज तक इसी सोच में गुम हैं “फ़राज़”
उसने कैसे नए हाथ को थामा होगा

Hindi Shayari By Ahmad Faraz – घर से निकले थे

घर से निकले थे कि दुनिया ने पुकारा था ‘फ़राज़’
अब जो फुर्सत मिले दुनिया से तो घर जाएँ कहीं

Hindi Shayari By Ahmad Faraz – झेले हैं जो दुख

झेले हैं जो दुःख तूने ‘फ़राज़’ अपनी जगह हैं
पर तुम पे जो गुज़री है वो औरों से कम है

Hindi Shayari By Ahmad Faraz – कितना आसाँ था

कितना आसाँ था तेरे हिज्र में मरना जानाँ
फिर भी इक उम्र लगी जान से जाते जाते




loading…


RJ SMS © 2017