RJ SMS - Shayari, Jokes

Hindi Shayari, Funny Jokes




loading…


Ahmad Faraz Sher O Shayari – पयाम आए हैं

पयाम* आए हैं उस यार-ए-बेवफा के मुझे
जिसे क़रार ना आया कहीं भुला के मुझे

जूदाईयाँ हों तो ऐसी की उम्र भर ना मिले
फरेब* तो दो ज़रा सिलसिले बढ़ा के मुझे

नशे से कम तो नहीं यादे-यार का आलम*
कि ले उडा है कोई दोश* पर हवा के मुझे

मैं खुद को भूल चुका था मगर जहाँ वाले
उदास छोड़ गये आईना दिखा के मुझे

तुम्हारे बाम* से अब कम नहीं है रिफअते-दार*
जो देखना हो तो देखो नज़र उठा के मुझे

बिछी हुई है मेरे आँसूओं में एक तस्वीर
‘फराज़’ देख रहा है वह मुस्कुरा के मुझे..

पयाम = संदेश
फरेब = धोखा
आलम = समय
दोश = कंधा
बाम = छत
रिफअते-दार = दोस्ती या प्रेम की ऊँँचाई




Updated: January 21, 2017 — 4:31 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *




RJ SMS © 2017