RJ SMS - Shayari, Jokes

Hindi Shayari, Funny Jokes




loading…


Ahmad Faraz Sher O Shayari – तुझसे मिलने को

तुझसे मिलने को कभी हम जो मचल जाते हैं
तो ख़्यालों में बहुत दूर निकल जाते हैं

गर वफ़ाओं में सदाक़त* भी हो और शिद्दत* भी
फिर तो एहसास से पत्थर भी पिघल जाते हैं

उसकी आँखों के नशे में हैं जब से डूबे
लड़-खड़ाते हैं क़दम और संभल जाते हैं

बेवफ़ाई का मुझे जब भी ख़याल आता है
अश्क़* रुख़सार* पर आँखों से निकल जाते हैं

प्यार में एक ही मौसम है बहारों का मौसम
लोग मौसम की तरह फिर कैसे बदल जाते हैं

सदाक़त = सच्चाई
शिद्दत = गंभीरता, तीव्रता, प्रबलता
अश्क़ = आंसू
रुखसार = गाल





loading…


Updated: January 21, 2017 — 4:13 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RJ SMS © 2017