RJ SMS - Shayari, Jokes

Hindi Shayari, Funny Jokes




loading…


Ahmad Faraz Ki Ghazal Shayari – वो पैमान* भी टूटे जिनको

वो पैमान* भी टूटे जिनको
हम समझे थे पाइंदा*

वो शम्एं भी दाग हैं जिनको
बरसों रक्खा ताबिंदा*

दोनों वफ़ा करके नाख़ुश हैं
दोनों किए पर शर्मिन्दा

प्यार से प्यारा जीवन प्यारे
क्या माज़ी* क्या आइंदा*

हम दोनों अपने क़ातिल हैं
हम दोनों अब तक ज़िन्दा।

ख़ुदकुशी = आत्महत्या
पैमान = वचन
पाइंदा = अनश्वर
ताबिंदा = प्रकाशमान
माज़ी = अतीत
आइंदा = भविष्यकाल




Updated: January 21, 2017 — 4:33 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *




RJ SMS © 2017