RJ SMS - Shayari, Jokes

Hindi Shayari, Funny Jokes




loading…


Ahmad Faraz Ki Famous Gazals – सिलसिले तोड़ गया वो

सिलसिले तोड़ गया वो सभी जाते जाते
वरना इतने तो मरासिम* थे के आते जाते

शिकवा-ए-ज़ुल्मत-ए-शब्* से तो कहीं बेहतर था
अपने हिस्से की कोई शमां जलाते जाते

कितना आसां था तेरे हिज्र* में मरना जाना
फिर भी इक उम्र लगी जान से जाते जाते

जश्न-ए-मकतल* ही न बरपा हुआ वरना हम भी
पाब-जूलां* ही सही नाचते गाते जाते

उसकी वो जाने उसे पास-ए-वफ़ा* था के न था
तुम फ़राज़ अपनी तरफ से तो निभाते जाते

मरासिम = संबंध
शिकवा-ए-ज़ुल्मत-ए-शब् = अँधेरी रात की शिकायत
हिज्र = जुदाई
मकतल = कत्लखाना
पाब-जूलां = जंजीर से बंधे हुए पैर
पास -ए -वफ़ा = प्यार के लिए सम्मान




Updated: January 21, 2017 — 3:31 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *




RJ SMS © 2017